महमूद का संक्षिप्त जीवन परिचय (Brief biography of Mahmood)

Mahmood biography

 महमूद का हिंदी सिनेमा के प्रारंभिक दौर में महत्वपूर्ण योगदान है। वह उस समय के सबसे बड़े कॉमेडियन अभिनेता माने जाते थे और आज भी  वह कितने ही कॉमेडियंस का प्रेरणा स्त्रोत बने हुए हैं। वह केवल एक कॉमेडियन ही नहीं बल्कि अभिनेता,  गायक,  निर्देशक और निर्माता भी थे। महमूद ने हिंदी सिनेमा में पदार्पण भारतीय स्वतंत्रता से पूर्व वर्ष 1943 में जान मुखर्जी द्वारा निर्देशित फिल्म किस्मत में अशोक कुमार के बचपन का किरदार निभाकर की थी। इस फिल्म में इन्होंने शेखर की भूमिका निभाई थी। वर्ष 1943 से वर्ष 1998 के मध्य अपने फिल्मी करियर के दौरान उन्होंने  लगभग 140 फिल्मों में काम किया। महमूद की अंतिम फिल्म वर्ष 1998 में  घर बाजार आई थी। 23 जुलाई 2004 को महमूद का कार्डियोवैस्कुलर हार्ट डिजीज के कारण पेंसिलवेनिया अमेरिका में देहांत हो गया।

 महमूद का जन्म और उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि। (Mahmood’s birth and his family background.)

महमूद का जन्म 29 सितंबर 1932 को बॉम्बे, बॉम्बे प्रेसीडेंसी ब्रिटिश इंडिया के समय हुआ था। 8 भाई बहनों में यह दूसरे नंबर पर आते थे। इनका पूरा नाम  महमूद अली था। इनके पिता का नाम मुमताज अली था वह हिंदी सिनेमा में एक अभिनेता तथा डांसर थे जबकि इनकी माता का नाम लतीफुन्निसा था। इनकी बहनों में से एक बहन मीनू मुमताज भी एक लोकप्रिय डांसर और हिंदी सिनेमा में कैरेक्टर आर्टिस्ट रह चुकी हैं। इनके एक छोटे भाई अनवर अली भी हिंदी सिनेमा में अभिनेता थे। महमूद की शैक्षणिक योग्यता के विषय में तो कोई जानकारी नहीं मिलती है।

महमूद की व्यक्तिगत जानकारी (Mehmood’s personal information)

वास्तविक नाममहमूद अली
महमूद का जन्मदिन29 सितंबर 1932
महमूद की आयु71 वर्ष ( मृत्यु के समय)
महमूद का जन्म स्थानबॉम्बे, बॉम्बे प्रेसीडेंसी ब्रिटिश इंडिया 
महमूद की मृत्यु तिथि23 जुलाई 2004
महमूद का मृत्यु स्थानपेंसिलवेनिया यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका
महमूद की मृत्यु का कारणकार्डियोवैस्कुलर हार्ट डिजीज
महमूद का मूल निवास स्थानमुंबई महाराष्ट्र भारत
महमूद की राष्ट्रीयताभारतीय
महमूद का धर्मइस्लाम
महमूद की जातीसुन्नी मुस्लिम
महमूद की शैक्षणिक योग्यताज्ञात नहीं
महमूद के स्कूल का नामज्ञात नहीं
महमूद के कॉलेज का नामज्ञात नहीं
महमूद का व्यवसायअभिनेता,  गायक,  निर्देश और निर्माता
महमूद की कुल संपत्ति15  करोड़  रुपए के लगभग 
महमूद की वैवाहिक स्थितिविवाहित 

महमूद की शारीरिक संरचना (Mahmood’s body composition)

महमूद की लंबाई5 फुट 8 इंच
महमूद का वजन70 किलोग्राम
महमूद की आंखों का रंगगहरा भूरा
महमूद के बालों का रंगकाला

 महमूद का परिवार (Mahmood’s family)

महमूद के पिता का नाममुमताज अली
महमूद की माता का नामलतीफुन्निसा 
महमूद के भाइयों का नामउस्मान अली,  शौकत अली,  अनवर अली
महमूद की बहनों का नामजुबेदा अली,  हुसैनी अली,  खैरुन्निसा अली,  मीनू मुमताज
महमूद की पत्नी का नाममधु कुमारी ( वर्ष 1953 से 1967)
 ट्रेसी अली ( दूसरी पत्नी)
महमूद के बेटों का नाममसूद अली,  मकसूद अली, ( लकी अली),  मखदूम अली,  मासूम अली,  मनसूर अली और मंजूर अली
महमूद की बेटियों के नामलतीफुन्निसा ( गिन्नी) और किज़्ज़ी ( सौतेली बेटी)

महमूद का हिंदी सिनेमा में पदार्पण (Mehmood’s debut in Hindi cinema)

वर्ष 1943 में महमूद ने ज्ञान मुखर्जी द्वारा निर्देशित फिल्म किस्मत से हिंदी सिनेमा में पदार्पण किया था। इस फिल्म में उन्होंने अशोक कुमार के बचपन  शेखर का किरदार निभाया था। वर्ष 1945 में उन्होंने  सन्यासी फिल्म में बांके की भूमिका निभाई थी। वर्ष 1951 में उन्होंने  हीरा सिंह द्वारा निर्देशित  रोमांटिक ड्रामा फिल्म नादान में एक बस कंडक्टर का किरदार निभाया था पूर्णविराम इस फिल्म में मुख्य अभिनेता तथा अभिनेत्री देवानंद और मधुबाला की। वर्ष 1953 में उन्होंने बिमल रॉय द्वारा निर्देशित सुपरहिट फिल्म 2 बीघा जमीन में बलराज साहनी और निरूपा रॉय जैसे दिग्गज कलाकारों के साथ काम किया था। इस फिल्म में उन्होंने मूंगफली बेचने वाले विक्रेता का किरदार निभाया था। 

वर्ष 1962 में उन्होंने बीआर पंथुलू द्वारा निर्देशित कॉमेडी फिल्म दिल तेरा दीवाना में शम्मी कपूर और माला सिन्हा के साथ काम किया था। इस फिल्म में इन्होंने अनोखे  का किरदार निभाया था। वर्ष 1965 में उन्होंने बतौर निर्माता और निर्देशक एक हॉरर कॉमेडी फिल्म भूत बंगला में काम किया। इस फिल्म में उन्होंने मोहन कुमार की भूमिका भी निभाई थी। 

आई एस जौहर के साथ महमूद की जोड़ी को खूब पसंद किया जाता था। वर्ष 1971 में पारस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ कॉमिक अवार्ड फिल्म फेयर अवार्ड से भी नवाजा गया था। अब तक महमूद फिल्म इंडस्ट्री में अपनी एक विशेष पहचान बना चुके थे परंतु वर्ष 1974 में कुंवारा बाप फिल्म से उन को सबसे अधिक लोकप्रियता प्राप्त हुई थी। इस फिल्म के निर्माता भी वही थे और निर्देशक भी। इसी फिल्म से राजेश रोशन को बतौर म्यूजिक निर्देशक पहली बार अपने इंडस्ट्री में काम करने का मौका मिला था। इस फिल्म में महमूद ने महेश एक रिक्शा चलाने वाले का किरदार निभाया था। इस फिल्म के लिए भी महमूद को सर्वश्रेष्ठ कॉमिक रोल फिल्मफेयर अवार्ड से सम्मानित किया गया था।

इसी तरह उन्होंने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को कई सुपरहिट फिल्में दी  जैसे कि पॉकेटमार वर्ष 1974,  मुंबई टू गोवा वर्ष 1972,  जौहर महमूद इन हांगकांग वर्ष 1971,  जौहर महमूद इन गोवा वर्ष 1965,  सबसे बड़ा रुपैया वर्ष 1976,  अमानत वर्ष 1977,  देश परदेस  वर्ष 1978,  एक बाप छे बेटे वर्ष 1978,  नौकर वर्ष 1979, चांद का टुकड़ा वर्ष 1994,  अंदाज अपना अपना वर्ष 1994 आदि।

महमूद की मृत्यु (Mahmood’s death)

महमूद  अपनी मृत्यु से पिछले कुछ वर्षों से बीमार चल रहे थे। इसलिए उनको इलाज के लिए अमेरिका ले जाया गया  परंतु 23 जुलाई वर्ष 2004 को कार्डियोवैस्कुलर हार्ट डिजीज के कारण पेंसिलवेनिया यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका के एक अस्पताल में उनका नींद की हालत में ही देहांत हो गया। जबकि इधर उनके चाहने वाले  उन्हीं के महबूब स्टूडियो बांद्रा मुंबई में  उनकी अच्छी सेहत के लिए प्रार्थना कर रहे थे।

error: Content is protected !!