सतीश शाह का संक्षिप्त जीवन परिचय। (Brief biography of Satish Shah)

Satish Shah biography
Contents hide

सतीश शाह हिंदी सिनेमा में एक दिग्गज अभिनेता माने जाते हैं। उनके अधिकतर किरदार कॉमेडियन ही होते हैं। सतीश शाह को हिंदी सिनेमा में काम करते हुए 50 वर्षों से अधिक का समय हो चुका है। उन्होंने वर्ष 1970 में बाबूभाई मिस्त्री द्वारा निर्देशित मेथेलॉजिकल ड्रामा फिल्म भगवान परशुराम से अभिनय के क्षेत्र में पदार्पण किया था। हिंदी सिनेमा में उनका पदार्पण सईद अख्तर मिर्जा  द्वारा निर्देशित फिल्म अरविंद देसाई की अजीब दास्तान से हुआ था। अब तक लगभग 150 फिल्मों तथा 5 टेलीविजन धारावाहिकों में अपने अभिनय का योगदान दे चुके हैं। अभिनय के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए उनको कई पुरस्कारों से नवाजा भी जा चुका है। 

सतीश शाह का जन्म, उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि और शैक्षणिक योग्यता। (Birth of Satish Shah, his family background and educational qualification.)

सतीश शाह का जन्म 25 जून 1951 को बॉम्बे  महाराष्ट्र में हुआ था। सतीश शाह के पिता का नाम रविलाल शाह है। वह गुजरात के कच्छ  क्षेत्र में रहने वाले मांडवी परिवार से संबंध रखते हैं। इनके माता-पिता तथा भाई-बहन के विषय में कोई अधिक जानकारी नहीं मिलती है। सतीश शाह की स्कूली शिक्षा तथा स्कूल के विषय में भी जानकारी प्राप्त नहीं है केवल इतना ही ज्ञात है कि उन्होंने सेंट जेवियर्स कॉलेज  से स्नातक की शिक्षा प्राप्त की और उसके बाद उन्होंने फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में दाखिला ले लिया जहां से उन्होंने अभिनय के क्षेत्र में स्नातक की उपाधि प्राप्त की।

सतीश शाह का प्रेम और  विवाह (Love and marriage of Satish Shah)

सतीश शाह और उनकी पत्नी मधु शाह की प्रेम कहानी बहुत ही  दिलचस्प है। यह दोनों पहली बार सिप्ता फिल्म फेस्टिवल के दौरान मिले थे। सतीश शाह को देखते ही मधु शाह से प्यार हो गया था और तुरंत उन्होंने उन्हें प्रपोज भी कर दिया था। मधु ने उनके प्रेम प्रस्ताव को यह कहते हुए ठुकरा दिया के वह पहली नजर के प्यार में विश्वास नहीं रखती हैं। कुछ समय के पश्चात जब साथ साथ फिल्म की शूटिंग हो रही थी फिर से सतीश साहनी उन्हें प्रेम प्रस्ताव दिया और दोबारा फिर से उनके इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया गया। इसके बावजूद सतीश शाह ने हार नहीं मानी और कुछ समय बीत जाने के पश्चात फिर से उन्होंने मधु को प्रपोज किया और इस बार उन्होंने कहा कि सतीश शाह को मधु के माता-पिता से बात करनी होगी और उसके बाद ही वह शादी के लिए हां  करेंगी। अंततः वर्ष 1972 को सतीश शाह और मधु शाह दोनों विवाह के बंधन में बंध गए।

सतीश शाह की व्यक्तिगत जानकारी (Personal Information of Satish Shah)

वास्तविक नामसतीश रविलाल शाह
सतीश शाह का जन्मदिन25 जून 1951
सतीश शाह की आयु71 वर्ष
सतीश शाह का जन्म स्थानबॉम्बे  महाराष्ट्र भारत
सतीश शाह का मूल निवास स्थानमांडवी कच्छ गुजरात
सतीश शाह की राष्ट्रीयताभारतीय
सतीश शाह की शैक्षणिक योग्यताअभिनय के क्षेत्र में स्नातक
सतीश शाह के स्कूल का नामज्ञात नहीं
सतीश शाह के कॉलेज का नामसेंट जेवियर्स कॉलेज
 फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट आफ इंडिया पुणे
सतीश शाह का व्यवसायअभिनेता
सतीश शाह की कुल संपत्ति6  करोड़  रुपए के लगभग
सतीश शाह की वैवाहिक स्थितिविवाहित
सतीश शाह की वैवाहिक तिथिवर्ष 1972

सतीश शाह की शारीरिक संरचना (Body structure of Satish Shah)

सतीश शाह की लंबाई5 फुट 10 इंच
सतीश शाह का वजन90 किलोग्राम
सतीश शाह का शारीरिक मापछाती 44 इंच,  कमर 40 इंच ,  बाइसेप्स 14 इंच
सतीश शाह की आंखों का रंगकाला
सतीश शाह के बालों का रंगसफेद

 सतीश शाह का परिवार (Satish Shah’s family)

सतीश शाह के पिता का नामरविलाल शाह 
सतीश शाह की माता का नामज्ञात नहीं
सतीश शाह के भाई बहन का नामज्ञात नहीं
सतीश शाह की पत्नी का नाममधु शाह
सतीश शाह के बच्चों का नामज्ञात नहीं

सतीश शाह का हिंदी सिनेमा में पदार्पण। (Satish Shah’s debut in Hindi cinema.)

सतीश शाह ने फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ पुणे से अभिनय की  बारीकियां सीखने के पश्चात वर्ष 1970 में बाबूभाई मिस्त्री द्वारा निर्देशित मेथेलॉजिकल ड्रामा फिल्म भगवान परशुराम से अभिनय के क्षेत्र में जबकि वर्ष 1978 में शहीद अख्तर मिर्जा द्वारा निर्देशित अरविंद देसाई की अजीब दास्तान फिल्म से हिंदी सिनेमा में पदार्पण किया। वर्ष 1981 में इन्होंने मुजफ्फर अली द्वारा निर्देशित म्यूजिकल ड्रामा फिल्म उमराव जान में दिलावर का किरदार निभाया था। जिसे दर्शकों द्वारा खूब पसंद किया गया। इसी वर्ष इन की दूसरी फिल्म अल्बर्ट पिंटो को गुस्सा क्यों आता है इसमें नसीरुद्दीन शाह,  शबाना आजमी और स्मिता पाटिल के साथ काम किया।

वर्ष 1983 में इन्होंने कुंदन शाह द्वारा निर्देशित फिल्म जाने भी दो यारो में कमिश्नर डीमैलो का किरदार निभाया था। यह फिल्म भारतीय राजनीति,  ब्यूरोक्रेसी,  न्यूज़ मीडिया और बिजनेस के ऊपर एक डार्क स्टाइर थी। इसी फिल्म से सतीश शाह को हिंदी सिनेमा में एक नई पहचान प्राप्त हुई थी। इसके बाद उन्होंने लगातार कई सुपरहिट फिल्में जैसे कि पुराना मंदिर वर्ष 1984,  अनोखा रिश्ता वर्ष 1986,  घरवाली बाहरवाली वर्ष 1988,  वीराना वर्ष 1988,  लव 86  वर्ष 1989,  बड़े घर की बेटी वर्ष 1989,हम आपके हैं कौन वर्ष 1994,  दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे वर्ष 1995,  साजन चले ससुराल वर्ष 1996, जुड़वा  वर्ष 1997,  कहो ना प्यार है वर्ष 2,000,  चलते चलते वर्ष 2003,  मैं हूं ना वर्ष 2004,  मुझसे शादी करोगी वर्ष 2004,  क्लब 60  वर्ष 2013  आदि।

सतीश शाह का टेलीविजन धारावाहिकों में पदार्पण (Satish Shah’s debut in television serials)

सतीश शाह ने वर्ष 1984 में दूरदर्शन चैनल पर प्रसारित किए जाने वाले कुंदन शाह द्वारा निर्देशित धारावाहिक यह जो है ज़िंदगी  से टेलीविजन धारावाहिकों में पदार्पण किया था। इस धारावाहिक में उन्होंने तरह-तरह के  किरदार निभाए थे। टेलिविजन इंडस्ट्री में उनको वर्ष 1993 में आए धारावाहिक फिल्मी चक्कर के मुख्य पहचान प्राप्त हुई थी। जिसके बाद उन्होंने घर जमाई वर्ष 1997,  साराभाई वर्सेस साराभाई वर्ष 2004 में बतौर अभिनेता और कॉमेडी सर्कस वर्ष 2007 में बतौर जज काम किया। 

सतीश शाह के अवार्ड और सम्मान (Awards and Honors of Satish Shah)

वर्ष 2005 सर्वश्रेष्ठ अभिनेता कॉमिक रोल  इंडियन टेलिविजन अकैडमी अवॉर्ड  धारावाहिक  साराभाई वर्सेस साराभाई

वर्ष 2006  सर्वश्रेष्ठ अभिनेता कॉमिक रोल  इंडियन टेली अवॉर्ड्स धारावाहिक  साराभाई वर्सेस साराभाई

वर्ष 2017  सर्वश्रेष्ठ अभिनेता वेब सीरीज  इंडियन टेलिविजन अकैडमी अवॉर्ड धारावाहिक  साराभाई वर्सेस साराभाई

सतीश शाह की आगामी फ़िल्में (Satish Shah upcoming movies)

मुंगीलाल रॉक्स – Mungilal Rocks

सतीश शाह का पसंदीदा निर्देशक 

 श्याम रामसे

 सतीश शाह का पसंदीदा अभिनेता 

 नसीरुद्दीन शाह

 सतीश शाह की पसंदीदा फिल्म

 फिर भी दिल है हिंदुस्तानी

 सतीश शाह का पसंदीदा कॉमेडियन

 जॉनी लीवर

 सतीश शाह का पसंदीदा टेलीविजन धारावाहिक

 फिल्मी चक्कर

error: Content is protected !!