अदनान सामी का संक्षिप्त जीवन परिचय। (Brief biography of Adnan Sami)

Adnan Sami biography

अदनान सामी को सभी उनकी बेहतरीन आवाज और संगीत के लिए जानते हैं। वह एक गायक,  संगीतज्ञ,  संगीत निर्माता  और पियानिस्ट भी हैं। वह केवल हिंदी ही नहीं बल्कि कन्नड़,  तेलुगू और तमिल फिल्मों में भी अपना योगदान दे चुके हैं। वह पहले ऐसे संगीतज्ञ हैं जिन्होंने पियानो पर संतूर और भारतीय शास्त्रीय संगीत को बजाया। यूनाइटेड स्टेट्स की एक मैगजीन में उनको दुनिया का सबसे तेज पियानो कीबोर्ड प्लेयर  बताया गया। द टाइम्स ऑफ इंडिया में भी वर्ष 2016 में इन्हें सुल्तान ऑफ म्यूजिक  का टाइटल दिया गया। वर्ष 2020 में इन्हें भारत सरकार द्वारा पद्मश्री के पुरस्कार से भी  सम्मानित किया गया।

अदनान सामी का जन्म और उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि (Adnan Sami’s birth and family background)

अदनान सामी का जन्म 15 अगस्त 1971 को लंदन इंग्लैंड में हुआ और वहीं पर इनका पालन-पोषण की हुआ। इनके पिता अरशद समी खान पाकिस्तानी पश्तून थे  जबकि इनकी माता नौरीन खान भारत के जम्मू से संबंध रखती थी। इनके पिता पाकिस्तानी वायु सेना में पायलट के पद पर रहते हुए अपने सेवाएं प्रदान कर चुके हैं और साथ ही साथ वह 14 देशों में पाकिस्तानी  एंबेसडर भी रह चुके हैं। इनके एक भाई हैं जिनका नाम जुनेद सामी खान है और वह भी एक गायक हैं। 

अदनान सामी की शैक्षणिक योग्यता। (Adnan Sami’s educational qualification.)

अदनान सामी की प्रारंभिक स्कूली शिक्षा रग्बी स्कूल, रग्बी वेस्ट  मिडलैंड  यूके  से हुई। स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के पश्चात उन्होंने किंग्स कॉलेज लंदन से  एलएलबी में  स्नातक की शिक्षा प्राप्त की। उसके पश्चात उन्होंने अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाते हुए  बैरिस्टर की पढ़ाई  लिंकन इन्न लंदन  से पूरी की।

 अदनान सामी की व्यक्तिगत जानकारी (Adnan Sami’s personal information)

वास्तविक नामअदनान सामी खान
अदनान सामी का जन्मदिन15 अगस्त 1971
अदनान सामी की आयु51 वर्ष
अदनान सामी का जन्म स्थानलंदन इंग्लैंड
अदनान सामी का मूल निवास स्थानलंदन इंग्लैंड
अदनान सामी की राष्ट्रीयताभारतीय
अदनान सामी का धर्मइस्लाम
अदनान सामी की शैक्षणिक योग्यताबैरिस्टर 
अदनान सामी के स्कूल का नामरग्बी स्कूल, रग्बी वेस्ट मिडलैंड  यूनाइटेड किंगडम
अदनान सामी के कॉलेज का नामकिंग्स कॉलेज लंदन
लिंकन इन्न लंदन
अदनान सामी का व्यवसाय  गायक, संगीत निर्माता और निर्देशक
अदनान सामी की कुल संपत्ति399  करोड़ रुपए के लगभग
अदनान सामी की वैवाहिक स्थितिविवाहित 

अदनान सामी की शारीरिक संरचना (Adnan Sami’s body composition)

अदनान सामी की लंबाई5 फुट 9 इंच
अदनान सामी का वजन70 किलोग्राम
अदनान सामी का शारीरिक माप छाती 42 इंच,  कमर 34 इंच,  बाइसेप्स 13 इंच
अदनान सामी की आंखों का रंगकाला
अदनान सामी के बालों का रंगकाला

 अदनान सामी का परिवार (Adnan Sami family)

अदनान सामी के पिता का नामअरशद सामी खान
अदनान सामी की माता का नाम नौरीन खान 
अदनान सामी के भाई का नामजुनैद  सामी   खान
अदनान सामी की पत्नी का नाम जेबा बख्तियार ( पहली पत्नी – पाकिस्तानी अभिनेत्री  वर्ष 1993 से  1997 तक)
सबा गलदारी ( दूसरी पत्नी –  वर्ष 2001 से  2004  तक)
रोया फरयाबी (तीसरी पत्नी –  वर्ष 2010 से  वर्तमान तक)
अदनान सामी के बेटे का नामअज़ान सामी खान ( गायक)
अदनान सामी की बेटी का नाममेदिना सामी खान (तीसरी पत्नी से)

अदनान सामी का म्यूजिक इंडस्ट्री में पदार्पण (Adnan Sami’s debut in the music industry)

अदनान सामी ने वर्ष 1986 में रन फॉर हिस लाइफ  इंग्लिश गाने के साथ  म्यूजिक इंडस्ट्री में पदार्पण किया था। यह गीत मिडिल ईस्ट के देशों में बहुत तेजी से वायरल हुआ। पहले ही हफ्ते में यह गीत म्यूजिक चार्ट्स ऑफ द रीज़न  की सूची में आ गया था। इस गीत की सफलता के पश्चात होने और भी कई अंग्रेजी गीत गाए जैसे कि  हॉट समर डे,  टॉक टू मी, यू आर माय बेस्ट कैप्ट  सीक्रेट आदि। 

वर्ष 1989  में व्यवसायिक तौर पर उनकी पहली एलबम  द वन  एंड ओनली  तबला मियेस्टरो जाकिर नायक के साथ  थी। इन्होंने पहेली वोकल सोलो एल्बम  वर्ष 1991 में  राग टाइम  रिलीज की। इस एल्बम का गीत  तेरी याद  पाकिस्तान में खूब पसंद किया गया। वर्ष 2000 में अदनान सामी ने आशा भोसले के साथ कोलैबोरेटेड एल्बम  कभी तो नजर मिलाओ में भी गाया। केवल भारत में ही इस एलबम की 4 मिलियन से अधिक  कैसेट  बिक चुकी थी। 

अदनान सामी का बॉलीवुड हिंदी सोंग्स में पदार्पण (Adnan Sami’s Bollywood Debut in Hindi Songs)

वर्ष 2001 में  अदनान सामी ने अब्बास मस्तान द्वारा निर्देशित फिल्म  अजनबी में  तू सिर्फ मेरा महबूब  गीत गाकर बॉलीवुड हिंदी सोंग्स में पदार्पण किया था। यह एक डुएट गीत थे, इस गीत में इनका साथ सुनिधि चौहान ने दिया था। इसी वर्ष दूसरी फिल्म दीवानापन में भी  इन्होंने नच नच नच  फाल्गुनी पाठक और सुखविंदर सिंह के साथ गीत गाया। वर्ष 2002 में इन्होंने आवारा पागल दीवाना फिल्म में  या हबीबी  गीत  शान और सुनिधि चौहान के साथ गाया। वर्ष 2002 में ही इन्होंने दूसरी फिल्म  साथिया ऐ उडी उडी उडी गीत भी गाया। वर्ष 2015 में  उन्होंने ब्लॉकबस्टर फिल्म बजरंगी भाईजान में  भर दो झोली मेरी  कव्वाली भी गई थी। बॉलीवुड में अब तक लगभग 80 सुपरहिट सोंग्स  गा चुके हैं।

वर्ष 2004 में उन्होंने शंकर दादा एमबीबीएस  फिल्म में ये जिल्ला  गीत से दक्षिण भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में भी पदार्पण किया। वह तेलुगू, तमिल, मलयालम,  मराठी और आसामी में भी अपनी सुंदर आवाज से संगीत प्रेमियों को रोमांचित कर चुके हैं।

अदनान सामी के अवार्ड और सम्मान (Awards and Honors of Adnan Sami)

अदनान सामी को म्यूजिक इंडस्ट्री में उनके योगदान के लिए कई पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है जैसे कि  निगार अवार्ड,  बोलन अकैडमी अवॉर्ड,  ग्रेजुएट अवार्ड, यूनाइटेड नेशंस पीस मेटल  अवार्ड। वर्ष 2003 में इन्होंने व्हेंबली स्टेडियम में  लगातार दो रातों तक पियानो बजा कर लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी अपना नाम दर्ज करवाया। वर्ष 2008 में इन्हें  आंध्र प्रदेश डिपार्टमेंट ऑफ कल्चर द्वारा नौशाद म्यूजिक अवार्ड  से भी नवाजा गया। अप्रैल 2017 में अदनान सामी पहले ऐसे दक्षिण एशियाई व्यक्ति बने हैं जो लंदन के व्हेंबली स्टेडियम में  8 बार अपनी प्रस्तुति दे चुके हैं।  26 जनवरी 2020 को उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्मश्री के सम्मान से भी पुरस्कृत किया गया।

error: Content is protected !!