गोविंद नामदेव का संक्षिप्त जीवन परिचय (Brief biography of Govind Namdev)

Govind Namdev biography

गोविंद नामदेव हिंदी फिल्मों में ही नहीं बल्कि  भारतीय टेलीविजन धारावाहिकों में भी अपने अभिनय के लिए जाने जाते हैं। गोविंद नामदेव ने मुख्यता खलनायक की भूमिका ही निभाई है। उन्होंने वर्ष 1992 में डेविड धवन द्वारा निर्देशित रोमांटिक एक्शन ड्रामा फिल्म  शोला और शबनम  से हिंदी सिनेमा में  और परिवर्तन  धारावाहिक से टेलीविजन इंडस्ट्री में पदार्पण किया था। वह लगभग 78 फिल्मों में और 8  धारावाहिकों में काम कर चुके हैं। गोविंद नामदेव को अपनी पहली फिल्म शोला और शबनम से भी ख्याति प्राप्त हुई परंतु उनको मुख्य पहचान वर्ष 1994 में फूलन देवी के जीवन पर आधारित बैंडिट क्वीन फिल्म,  विरासत ,  सत्या,  फिर भी दिल है हिंदुस्तानी,  सरफरोश और राजू चाचा  जैसी फिल्मों से प्राप्त हुई। गोविंद नामदेव नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा तथा  फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से शिक्षा प्राप्त कर चुके हैं। अभिनय के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए उनको कई पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

गोविंद नामदेव का जन्म और उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि। (Birth of Govind Namdev and his family background.)

गोविंद नामदेव का जन्म 30 सितंबर 1950 को सागर  मध्य प्रदेश  भारत में हुआ था। इनके पिता  श्री राम प्रसाद भगवान  दर्जी का काम किया करते थे। इनकी माता गृहणी थी,  उनके नाम के विषय में जानकारी प्राप्त नहीं है। इनके पांच भाई और चार बहने हैं परंतु उनके भी  नाम  और व्यवसाय के विषय में कोई जानकारी नहीं मिलती है। गोविंद नामदेव मध्यम वर्गीय परिवार से संबंध रखते हैं। 

गोविंद नामदेव की शैक्षणिक योग्यता (Educational Qualification of Govind Namdev)

गोविंद नामदेव की स्कूली शिक्षा और स्कूल के विषय में तो जानकारी नहीं मिलती है परंतु उनकी उच्च शिक्षा के विषय में जानकारी उपलब्ध है। सातवीं कक्षा पूरी करने के पश्चात वह दिल्ली आ गए थे। वह पढ़ाई के साथ-साथ एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटीज में भी उत्तीर्ण  थे,  जिसके फल स्वरुप उनको स्कॉलरशिप मिल गई थी और उसी के सहारे वह अपनी आगे की शिक्षा को जारी रखने में कामयाब रहे। दिल्ली विश्वविद्यालय से इन्होंने  प्राइवेट  के द्वारा स्नातक की शिक्षा प्राप्त की और उसके पश्चात अभिनय के क्षेत्र में रुझान होने के कारण नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा दिल्ली में दाखिला ले लिया, जहां से इन्होंने  वर्ष 1977 में  अभिनय के क्षेत्र में स्नातक की शिक्षा प्राप्त की। 

गोविंद नामदेव की व्यक्तिगत जानकारी (Personal Information of Govind Namdev)

वास्तविक नामगोविंद नामदेव
गोविंद नामदेव का जन्म3 सितंबर 1950
गोविंद नामदेव की आयु72 वर्ष
गोविंद नामदेव का जन्म स्थानसागर, मध्य प्रदेश भारत
गोविंद नामदेव का मूल निवास स्थानसागर,  मध्य प्रदेश भारत
गोविंद नामदेव की राष्ट्रीयताभारतीय
गोविंद नामदेव का धर्महिंदू
गोविंद नामदेव की शैक्षणिक योग्यतास्नातक
गोविंद नामदेव के स्कूल का नामज्ञात नहीं
गोविंद नामदेव के कॉलेज का नामदिल्ली यूनिवर्सिटी ( प्राइवेट)
नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा नई दिल्ली
फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया पुणे
गोविंद नामदेव का व्यवसायअभिनेता
गोविंद नामदेव की कुल संपत्ति40  करोड़  रुपए के लगभग
गोविंद नामदेव की वैवाहिक स्थितिविवाहित
गोविंद नामदेव के वैवाहिक तिथि वर्ष  1981

गोविंद नामदेव  की शारीरिक संरचना (Physical Structure of Govind Namdev)

गोविंद नामदेव की लंबाई5 फुट 7 इंच
गोविंद नामदेव का वजन75 किलोग्राम
गोविंद नामदेव का शारीरिक मापछाती 40 इंच,  कमर 32 इंच,  बाइसेप्स 13 इंच
गोविंद नामदेव की आंखों  का रंग काला
गोविंद नामदेव के बालों का रंगकाला

 गोविंद नामदेव का परिवार (Govind Namdev’s family)

गोविंद नामदेव के पिता का नामश्री राम प्रसाद भगवान
गोविंद नामदेव की माता का नामज्ञात नहीं
गोविंद नामदेव के  भाइयों का नाम5  भाई –  नाम ज्ञात नहीं
गोविंद नामदेव की बहनों का नाम4 बहनें –  नाम ज्ञात  नहीं
गोविंद नामदेव की पत्नी का नामसुधा  नामदेव
गोविंद नामदेव की बेटियों का नाममेघा  नामदेव,  पल्लवी नामदेव  और  प्रगति नामदेव 

गोविंद नामदेव का हिंदी सिनेमा में पदार्पण (Govind Namdev’s debut in Hindi cinema)

नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से  अभिनय का कोर्स करने के पश्चात लगभग 13 वर्षों तक वह उसी के साथ जुड़ कर विभिन्न देशों जैसे कि  जर्मनी,  पोलैंड और लंदन में थिएटर करते रहे। उसके पश्चात वर्ष 1992 में उन्होंने डेविड धवन द्वारा निर्देशित रोमांटिक एक्शन ड्रामा फिल्म शोला और शबनम से हिंदी सिनेमा में पदार्पण किया। इस फिल्म के मुख्य अभिनेता और अभिनेत्री गोविंदा  और दिव्या भादुरी थी। इस फिल्म में उन्होंने एक भ्रष्टाचारी पुलिस इंस्पेक्टर का किरदार निभाया था।  हिंदी सिनेमा में इनकी पहली सैलरी  ₹50000 थी।  इस फिल्म में उनके अभिनय को दर्शकों तथा क्रिटिक्स द्वारा खूब पसंद किया गया। 

इस फिल्म की सफलता के पश्चात उन्होंने एक के बाद एक कई सुपरहिट फिल्मों जैसे कि  चमत्कार वर्ष 1992,  आंखें  वर्ष 1993,  बैंडिट क्वीन वर्ष 1994,  प्रेम ग्रंथ वर्ष 1996,  विरासत वर्ष 1997,  सत्या वर्ष 1998, सरफरोश वर्ष 1999,  फिर भी दिल है हिंदुस्तानी वर्ष 2,000,  राजू चाचा वर्ष 2000, लज्जा वर्ष  2001,  गर्व  प्राईड एंड ऑनर वर्ष 2004,  अजब प्रेम की गजब कहानी  वर्ष 2009,  वांटेड वर्ष 2009, सिंघम वर्ष 2011,  ओएमजी –  ओ माय गॉड वर्ष 2012 आदि में काम किया।

गोविंद नामदेव का टेलीविजन धारावाहिकों में पदार्पण। (Govind Namdev’s debut in television serials.)

गोविंद नामदेव ने परिवर्तन धारावाहिक से जो कि दूरदर्शन चैनल पर प्रसारित किया जाता था टेलीविजन इंडस्ट्री में पदार्पण किया। वर्ष 1993 में उन्होंने दूरदर्शन पर प्रसारित किए जाने वाले धारावाहिक ब्योमकेश बक्शी  के एक एपिसोड  किले का रहस्य  में भी अभिनय किया। इस एपिसोड में इन्होंने राम किशोर सिंह  का किरदार निभाया था। सोनी चैनल पर प्रसारित किए जाने वाले  हॉरर धारावाहिक  आहट  के भी कुछ एपिसोड में इन्होंने अभिनय किया।  वर्ष 1997 में सोनी चैनल पर ही प्रसारित किए जाने वाले धारावाहिक महाज्ञा में  छोटे ठाकुर  का किरदार निभाया था। जिसे दर्शकों द्वारा खूब पसंद किया गया। वर्ष 1998 में आशीर्वाद,  वर्ष 1999 अभिमान,  वर्ष 2000 योर ऑनर, वर्ष 2020  टेल्स ऑफ़ लामाज़  में भी इन्होंने अभिनय किया।

गोविंद नामदेव के अवार्ड और सम्मान (Awards and Honors of Govind Namdev)

  वर्ष 1999  सर्वश्रेष्ठ अभिनेता  स्क्रीन अवॉर्ड्स धारावाहिक महाज्ञा 

 वर्ष 2009   सर्वश्रेष्ठ अभिनेता ओसियंस फिल्म फैन  फिल्म कबूतर

सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नेगेटिव रोल  स्क्रीन अवॉर्ड्स

 वर्ष 2012  सर्वश्रेष्ठ अभिनेता  ओसियंस सीने  फैन  इंटरनेशनल अवार्ड

 महाराष्ट्र कलानिकेतन फिल्म अवार्ड

 मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मध्य प्रदेश रत्न पुरस्कार

error: Content is protected !!